Stock market – Share market in Hindi शेयर मार्किट की पूरी जानकरी

शेयर मार्किट क्या है? (What is Share Market in Hindi?) यह प्रश्न का उतर बहुत से लोग जानना चाहते है. शेयर बज़ार को ही लोग Stock Market के नाम से भी जानते है.

भारत में सिर्फ २ – ३ प्रतिशत लोग ही शेयर बज़ार (स्टॉक मार्किट) में निवेश कर रहे है. बल्कि चाइना, अमेरिका के तुलना में यह संख्या बहुत ही कम है.

अब यह तो आपको मानना पड़ेगा की गोल्ड और रियल एस्टेट के बाद लोग सबसे जादा रिटर्न्स Stock Market से ही कमा रहे है. इस कारन सामान्य लोगो में शेयर बज़ार के प्रति दिलचस्पी बढ़ रही है.

जो लोग शेयर मार्किट में इन्वेस्टमेंट करना चाह रहे, कुछ पैसा कमाने चाहते है. तो उन्हें शेयर मार्किट की बेसिक जानकारी लेनी ही चाहिए. ताकि वो कुछ अच्छा इनकम करे और भविष्य में होने वाले नुकसान से बचे.

यह आर्टिकल में हमने शेयर मार्किट (Basics of share bazar in Hindi) से जुडी सभी जानकारी देने की कोशिश की है. आप यह पूरा पढेंगे तो आपके काफी कांसेप्ट क्लियर होंगे..
तो चलो सबसे पहिले जानते है शेयर क्या है?

Share kya hai? (What is share in Hindi)

share इस शब्द का हिंदी में अर्थ होता है हिस्सा. आप किसी कंपनी का शेयर खरीदते है इसका मतलब आप उस कंपनी में हिसेदारी खरीदते है.
इसे हम एक उधाहरण से समजते है, मेरी कोही एक कंपनी है और मुझे मेरी कंपनी का कंपनी का व्यापर बढ़ाने के लिए १ लाख रूपये चाहिए वो में मेरी कंपनी के १ लाख के शेयर को बेच कर प्राप्त करता हु और आप २० हजार के मेरी कंपनी के शेयर को खरीदते है. इसका मतलभ अपने मेरी कंपनी में २०% की हिसेदारी खरीद ली है.

Share Market kya hai? (Share Market in Hindi / Stock Market in Hindi)

शेयर यानि की हिस्सा और मार्किट यानि वो जगह जिदर शेयर को ख़रीदा या बेचा जाता है. आसन भाषा में कहे तो शेयर मार्किट / स्टॉक मार्किट यह ऐसा मार्किट है जिसपर सूचीबद्ध कंपनी के शेयर को ख़रीदा या बेचा जाता है.

Basic Information of about Share market in Hindi

भारत में प्रमुख दो शेयर मार्किट (Stock market) है. एक है बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (BSE) और दूसरा नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (NSE). जिसमे BSE सबसे पुराना स्टॉक मार्किट है जिसकी स्थापना 9 July 1875 में हुई है और NSE की 1992 मे हुई है. दोनों भी मुंबई में स्थित है.

Share Bazar के रोज के व्यापर में व्यक्तिगत स्तर पर व्यापार करने वाले छोटे बड़े निवेशक (रिटेलर), म्यूचुअल फंड, नीति कंपनी (Policy Company), बैंक इन जैसे कई संस्थागत भाग लेते हैं.

जादा तो लोगो को लगता है की शेयर मार्किट में सिर्फ शेयर को ही ख़रीदा या बेचा जाता है. लेकिन ऐसा नहीं होता शेयर के साथ दुसरे भी सिक्योरिटीज का व्यापर यहाँ किया जाता है, जैसे की करेंसी, कमोडिटी, बांड्स अधि.

स्टॉक मार्किट के प्रकार (Types of Share Market in Hindi)

मूल रूप से शेयर मार्किट के दो प्रकार होते है.

  1. प्राइमरी शेयर मार्किट
  2. सेकेंडरी शेयर मार्किट

शेयर मार्किट में कोही एक नयी कंपनी लिस्ट कैसे होती है पता है? जब किसी कंपनी को किसी कारन पैसे की आवशकता होती है और वह लोगो से पैसे जुटाना चाहती है, तो वह आईपीओ (इनिशियल पब्लिक ओफ्फेरिंग) के जरिये यह करते है और स्टॉक मार्किट पर लिस्ट होती है. जो लोग आईपीओ में निवेश करते है उनको इसके बदले में कंपनी शेयर के जरिये कंपनी में हिसेदारी मिलती है और कंपनी आईपीओ के जरिये फंडिंग जुटाती है.

आईपीओ की इस शेयर एलोकेशन प्रोसेस प्राइमरी मार्किट में होती है.

वही दूसरी तरफ जब हम आम तौर पे शेयर मार्किट के ट्रेडिंग की बात करते है यानि की जहा ट्रेडर शेयर को खरीदते और बेचते है उस मार्किट को सेकेंडरी मार्किट कहते है.

Sensex और Nifty क्या होता है? (What is Sensex and Nifty?)

आपने न्यूज़ में कही बार निफ्टी और सेंसेक्स का नाम सुना ही होगा. आज निफ़्टी इतना बड़ा सेंसेक्स इतना निचे गया. शेयर मार्किट को समजने के लिए आपको इन दोनों को भी समजना जरूरी है, तो देखते है क्या है ये …

सेंसेक्स क्या है? (Sensex in Hindi)

भारत में सेंसेक्स और निफ़्टी ये शेयर मार्किट के सूचकांक है जो शेयर बाजार की ताकत का निर्धारण या चित्रण करते हैं. Sensex मतलब संवेदनशील सूचकांक Sensitive index जो बॉम्बे स्टॉक एक्सचज (BSE) का सूचकांक है. सेंसेक्स ये एक सबसे पुराणा शेयर मार्किट का सूचकांक है.
इस इंडेक्स का आधार मूल्य (base value) 100 है. सेंसेक्स की चढ़ उतर बीएसई पर सबसे बड़े, सक्रिय रूप से कारोबार करने वाली ३० कंपनीयो के शेयरों का प्रदर्शन और वित्तीय सुदृढ़ता के आधार पर निचित होती है.

निफ़्टी क्या है? (Nifty in Hindi)

निफ़्टी यह नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (NSE) का निर्देशांक है. इसे Nifty 50 भी कहा जाता है. सेंसेक्स के जैसे ही Nifty 50 का आधार मूल्य (Base value) 1000 होता है. निफ्टी इंडेक्स में NSE पर सक्रिय रूप से कारोबार करने वाले 50 स्टॉक शामिल रहते हैं.

और यह NSE की सहायक कंपनी इंडिया इंडेक्स सर्विसेज एंड प्रोडक्ट्स लिमिटेड (IISL) द्वारा स्वामित्व और प्रबंधित होता है. निफ़्टी इंडेक्स ये फ्री-फ्लोट बाजार पूंजीकरण भारित विधि (Free float market capitalization weighted Method) का उपयोग करके गणना की जाती है.

क्षेत्रीय संकेत (Sectorial Indices)

जिस तरह हमने सेंसेक्स और निफ़्टी के इंडेक्स देखे, उसी तरह Sectorial Indices यह भी उसी विशेष क्षेत्र की टॉप कंपनीयो को इंडेक्स में शामिल करते हुए उनका इंडेक्स बनता है. जिससे हमें उस क्षेत्र का प्रदर्शन का अंदाजा लगाना आसान होता है.

  1. बैंक निफ़्टी (Bank Nifty)

इस इंडेक्स में NSE पर लिस्टेड टॉप पब्लिक सेक्टर बैंक और प्राइवेट सेक्टर बैंक के शेयर को एकीकृत किया होता हैं. (उदा. SBI bank , ICICI Bank )

2. निफ़्टी फार्मा (Nifty pharma)

इस इंडेक्स में NSE पर लिस्टेड टॉप फार्मा कंपनी के शेयर को एकीकृत किया होता हैं, और उससे ये इंडेक्स बनता है. (उदा. Cipla, Auro pharma, Sun pharma)

3. निफ्ट IT (Nifty IT)

इस इंडेक्स में NSE पर लिस्टेड टॉप सर्विस कंपनी के शेयर को एकीकृत किया होता हैं.
(उदा. Tech Mahindra, Infosys)
इनके अलवा भी सेक्टोरल इंडेक्स आपको देखने को मिलेंगे,
4. निफ़्टी सर्विस (Nifty Services)
5. Nifty Auto Index,
6. Nifty FMCG Index
7. Nifty Media Index

पूंजीकरण के आधार पर शेयर बाजार में कंपनी के प्रकार: (Types of companies in share market on basis of capitalisation)

तो दोस्तों देखते है शेयर माकेट में कैसे कंपनी यो को उनके पंजीकरण के आधार पर वर्गाकृत किया जाता है जिससे हमे उनमे निवेश करने में मदत हो सके.

Small cap:

जिन कंपनीयों का मार्किट कैपिटल १ बिलियन से कम होता है उन्हें Small Cap कहते है. ये सब छोटी कंपनी होती है और ये हाल ही में आईपीओ के माध्यम से मार्किट में ई होती है. इन स्टॉक्स में कम कैपिटल के वजेसे बहुत ज्यादा Volatility होती है. जोखिम के साथ ही उनमे बहुत ज्यादा प्रॉफिटेबल बनने की क्षमता होती है.

Mid Cap:

जिन कंपनीयों का मार्किट कैपिटल २ बिलियन से १० बिलियन के बिच होता है उन्हें Mid Cap कहते है. मिड कैप की कंपनियां कम जोखिम वाली हैं, और उनमे से कुछ की लार्ज कैप बनने की काबिलियत भी होती है.

Large Cap:

जिन कंपनीयों का Market Cap १० बिलियन से ज्यादा होता है उन्हे Large Cap कहते है. इस तरह की कंपनीयां के शेयर कम जोखिम भरे होते है. क्योंकि उनके पास मंदी जैसे काल से बचने के लिए वित्तीय संसाधन होते हैं. लार्ज कैप की सभी कम्पनी स्माल कैप, मिड कैप ऐसे यात्रा करके ही लार्ज कैप तक पहुंची हुयी रहती है.

ट्रेडिंग के प्रकार (Types of trading in share market in Hindi)

शेयर मार्किट में मुख्य रूप से दो प्रकार की ट्रेडिंग होती है,

  1. Delivery
  2. Intraday

तो देखते है यह Intraday और Delivery Trading क्या होती है?

Intraday Trading क्या है ?

इस प्रकार की ट्रेडिंग में कोही व्यक्ति बाजार के घंटों (Market Hours) के दौरान उसी दिन शेयर खरीदता और बेचता (Buy and sell) है उसे इंट्राडे ट्रेडिंग कहते है.

Deliver Trading क्या है?

डिलीवरी ट्रेडिंग का मतलभ है शेयर को खरीदकर उसी दिन में न बेजते हुए, अपने इच्छा के अनुसार एक दिन से ज्यादा लम्बे समय के लिए अपने खाते में Hold करके रखना है.

Share market mai nivesh kaise kare? (How to invest in share market?)

इस तरह सभी शेयर मार्किट (share market in Hindi) की बेसिक नॉलेज लेने बाद आपके मन में यह सवाल जरूर होगा की शेयर मार्किट में निवेश करने का पहला कदम क्या हो सकता है? शेयर मार्किट में निवेश करने के लिए सबसे पहिले आपके पास एक demat Account होना जरूरी है. अगर आपको Demat Account क्या होता है यह पता नहीं है तो आप लिंक दिया है वो आर्टिकल पढ़ सकते है.

डीमैट अकाउंट क्या है? डीमैट और ट्रेडिंग अकाउंट में क्या फरक होता है?

निष्कर्ष (Conclusion):

उम्मीद है आपको शेयर मार्किट की सभी बेसिक जानकारी (Basics of Share Market in Hindi) इस पोस्ट के जरिये मिल गयी होगी. यदि आपके मन में शेयर मार्किट से जुड़े कुछ सवाल हो तो कमेंट बॉक्स में जरूर लिखे. और यह पोस्ट अपने दोस्तों परिवार वालों से जरूर शेयर करे.

Q1. स्टॉक / शेयर कितने प्रकार का होता है?

share market में तीन प्रकार के शेयर होते है
1. इक्विटी शेयर (Equity Share)
2. पेरफेरेंस शेयर (perference Share)
3. डी वी आर शेयर (DVR Share)

Q2. शेयर मार्केट में पैसा कैसे लगाएं?

पहिले से जादा अभी के दिनों में शेयर मार्किट में पैसे इन्वेस्ट करना बहुत ही आसन हो चूका है. आप घर बैठे ही अपने मोबाइल के जरिये बहुत ही कम समय में शेयर खरीद या बेच सकते है. इसके लिए आपके पास सिर्फ एक मोबाइल, इन्टरनेट और डीमेट अकाउंट की आवश्यकता है.
लेकिन शेयर मार्किट से पैसे कमाना इतना आसन भी नहीं है. इसके लिए आपके पास शेयर मार्किट की बहुत अच्छी समज होना जरूरी है.

Q3. नेशनल स्टॉक एक्सचेंज के अध्यक्ष कौन है?

नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (NSE) के वर्त्तमान अध्यक्ष अशोक चावला है.

Q4. भारत का सबसे बड़ा स्टॉक एक्सचेंज कौन सा है?

भारत का सबसे पुराना स्टॉक एक्सचेंज बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (BSE) है परन्तु Volume सबसे जादा होने के कारन सबसे बड़ा स्टॉक एक्सचेंज NSE है

Q5. भारत में कितने शेयर बाजार (Stock Exchanges) है?

भारत में आज के दौरान लगभग २३ स्टॉक एक्स्चंगेस है, उसमे से करीब ९ स्टॉक एक्स्चानेस को सेबी की मान्यता है.

Share

6 thoughts on “Stock market – Share market in Hindi शेयर मार्किट की पूरी जानकरी”

Leave a Comment