क्या है Ethereum? क्या Bitcoin से एथेरियम बेहतर है? पूरी जानकारी हिंदी में

एथेरियम क्या है? कैसे ख़रीदे? भविष्य? Smart Contract क्या है? [Ethereum in Hindi] (kya hai, Ether, Cryptocurrency, Price, Smart Contract, Future, Investment)

हेल्लो दोस्तों आज के आर्टिकल में हम कुछ नया सिखाने वाले है, जिस चीज़ ने बहुत से लोगो को बहुत ही कम दिनों में मालामाल कर दिया है. यदि आप टेकन्यूज़ में अपडेट रहना पसंद करते है, तो आपने Ethereum ये नाम तो सुना ही होगा. क्रिप्टो करेंसी की दुनया में बिटकॉइन की प्राइस रोज इतनी तेजीसे बढ़ रही है इस कारण इसकी Popularity भी बहुत बढ़ी है.

यदि आप बिटकॉइन के बाद कोही दूसरी क्रिप्टो देखे की जिसने सबसे जादा return दिए है तो नाम आता है Ether जिसकी प्राइस पिछले 1 साल में लगबग 1400 % से भी जादा बढ़ी है. ये सुनकर आपके मन में भी ये सवाल जरूर आया होगा आखिर ये एथेरियम क्या है? (Ethereum kya hai in Hindi). तो चलो आज के इस आर्टिकल में जान ही लेते है ताकि आप भी शायद इसमें कुछ प्रॉफिट कमा सके…

एथेरियम क्या है? (Ethereum Crypto currency kya hai in Hindi)

Ethereum यह एक Open Source, Bloackchain तकनीक से बनी Decentralized software Paltform है. जिसे २०१५ में लॉन्च किया गया था. और Ether (ETH) ये इसकी Cryptocurrency है.
Ethereum Network Smart Contarcts और Distributed Applications (DApps) को बिना किसी धोकाधडी, नियंत्रण, डाउनटाइम में चलने में सक्षम बनाता है. इसी कारन इसकी लोकप्रियता दिन प्रति दिन बढ़ती जा रही है.

इस समय २०२१ में यदि आप मार्किट कैपिटलाइजेशन से देखे तो bitcoin के बाद दुसरे नंबर पर Ether (ETH) दुनिया की सबसे बड़ी cryptocurrency है. और इसकी प्रोग्रामिंग लैंग्वेज Solidity है. जिसका इस्तमाल स्मार्ट कॉन्ट्रैक्ट बनाने और Blockchain में रखने में करते है. ये क्रिप्टोकरेंसी जिस technology पर काम करती है, उसे Ethereum Blockchain कहते है.

बिटकॉइन क्या है? बिटकॉइन की पूरी जानकारी

क्यू एथेरियम को बिटकॉइन से बेहतर माना जाता है?

हम सबको पता है की दुनिया की सबसे बढ़ी और सबसे पहेली क्रिप्टो करेंसी तो बिटकॉइन ही है. बिटकॉइन का अविष्कार २००९ में जापान के एक व्यक्ति सतोशी नकामोतो ने किया था.

तबसे इसकी प्राइस भी बढती ही रही है. बिटकॉइन सभी क्रिप्टो में कामयाब रही. लेकिन बिटकॉइन यह कोही एक परफेक्ट क्रिप्टोकरेंसी नहीं है.

इसमें भी कुछ कमिया है. इनी कमिया को दूर करने के लिए मार्किट में और भी कुछ नयी क्रिप्टोकरेंसी मार्किट में आई. इन्हें ALT – COIN कहा जाता है. इन में से एक है Ether (ETH) भी है.

आईये देखते है क्या कारन है जिसके चलते Ether को Bitcoin से बेहतर माना गया है.

  • Bitcoin ये सिर्फ क्रिप्टोकरेंसी है लेकिन एथेरियम ये प्लेटफार्म है.
  • Less Transaction Time – Ether के नेटवर्क पर बिटकॉइन के मुकाबले Transaction को पूरा होने में बहुत ही कम समय लगता है.
  • Less Transaction Feee – Ether पर Bitcoin के मुकाबले कम Transaction Fees लगती है.
  • Unlimited Supply Coins – इस क्रिप्टोकरेंसी में हर साल 18 million नए ether मार्किट में आते है. वही दूसरी तरफ नए Bitcoin मार्किट में सिर्फ mining से ही आते है और इनकी संख्या बहुत ही कम होती है.
  • Technology का विस्तार – जैसे हमे पता है की Bitcoin सिर्फ एक क्रिप्टोकरेंसी ही है, लेकिन एथेरियम ether cryptocurrency के अलावा भी इसका इस्तमाल होता है. जैसे के Ethereum blockchain प्लेटफार्म पर Application भी Built करके इसका इस्तमाल वो पर्सनल डाटा ट्रान्सफर या स्टोर करने के लिए कर सकते है या जटिल फाइनेंसियल Transaction संभालने के लिए किया जाता है.
  • More Profite for miners – Ether (ETH) के mining करने वाले Miners को जादा प्रॉफिट मिलता है Bitcoin Mining के मुकाबले.

Ethereum में Smart Contract क्या है?

पहेली बार Smart Contract का शब्द USA के computer scientist और लीगल स्कॉलर Nick Szabo इसने 1997 में किया था, बिटकॉइन के अविष्कार से बहुत पहिले. उन्होंने इस शब्द का उपयोग किसी ledger account (खाता बही) को दिखाने के लिए किया था.

Smart Contract ये अपने आम कॉन्ट्रैक्ट के तरह ही होते है. लेकिन इसमें फरक इतना ही है की ये पूरी तरह डिजिटल फॉर्मेट में होते है. Smart Contract का उपयोग धन, सामग्री, शेयर आदि का आदान- प्रदान करने हेतु किया जाता है.

वास्तव में देखा जाए तो Smart Contract ये एक तरह का कंप्यूटर का छोटासा प्रोग्राम ही होता है. जो blockchain में स्टोर होता है. Blockchain पर चलने पर स्मार्ट कॉन्ट्रैक्ट सेल्फ ऑपरेटिंग कंप्यूटर के प्रोग्राम की तरह चलता है. और विशिष्ट परिस्थियों को पूरा करने के लिए स्वयंचलित रूप से execute भी होता है.

स्मार्ट कॉन्ट्रैक्ट Blockchain के जरिये ही स्टोर किया जाता है. इस कारन वो बहुत ही सुरक्षित होते है. क्युकी blockchain ये Immutable और Distributed प्रणाली है. यहाँ Immutable का मतलब है की एक बार स्मार्ट कॉन्ट्रैक्ट बनानें के बाद फिरसे इसमें कोही भी बदलाव नहीं किया जा सकता है. और Distributed का मतलब है की आपके नेटवर्क में जो भी कंप्यूटर है उनकी अनुमति मिलने पर पूरा होता है.

यदि नेटवर्क में कोही भी एक व्यक्ति नेटवर्क में छेड़ छाड़ करके फण्ड निकलने की कोशिश भी करीता है, तो उसे यह करने के लिए नेटवर्क में उपलब्ध सभी की उनुमती लेनी होगी. लेकिन ये इतना आसान नहीं होता है, ये लगभग पूरी तरह से असंभव है.

स्मार्ट कॉन्ट्रैक्ट बहुत क्षेत्र में उपयोग हो सकता है, जैसे की बैंक में इसका इस्तमाल होता है, लोन रिलीज करने के लिए, पोस्टल कंपनी भी इसका इस्तमाल डिलीवरी के लिए कर सकती है. लेकिन दुनिया में बहुत कम ब्लैक चैन टेक्नोलॉजी इस का इस्तमाल कर रही है.

यह की बिटकॉइन के टेक्नोलॉजी में इसका इस्तमाल होता है लेकिन थोडे कम स्थर पर, एथेरियम पूरी तरह से स्मार्ट कॉन्ट्रैक्ट पर ही चलता है.

Ethereum का Future क्या है?

जबसे Ether (ETH) Cryptocurrency की शुरवात हुयी है, तबसे इसकी प्राइस लगातार बढ़ रही है. हमने पहिले ही देखा की ETH पूरी तरह Smart Contract पर ही चलती है.

और ये बिटकॉइन से भी जादा बेहतरीन करेंसी माने जाने के कारन बहुत से इन्वेस्टर्स इसमें निवेश कर रहे है. यहाँ तक की Microsoft और JP Morgan Chase ने भी इसमें निवेश कर चुके है. यह देखकर तो Ethereum का भविष्य अच्छा दिख रहा है.

इसमें कोही शक नहीं की क्रिप्टो करेंसी में निवेश करने के लिए Ether (ETH) ये एक अच्छा विकल्प है. लेकिन मेरा यह मानना है की कोंनसी भी इन्वेस्टमेंट करते समय आपको उसके बारे में अच्छा Reaseach करना बहुत जरूरी है.

हा और एक बात भले ही वो आपको इसमें से बहुत जादा रिटर्न्स मिले लेकिन आपको कोनसा भी लोन लेके इन्वेस्ट नहीं करना चाहिये. ये आगे चलकर आपके लिए खतरनाक भी साभित हो सकता है.

क्या आपको Ethereum में Investment करनी चाहिए?

Ether (ETH) जब से चालू हुआ ये तबसे सिर्फ ५ साल में साल में इसकी प्राइस ३०० गुना बढ़ गयी है. ये सुनकार किसी को लगेगा की इसमें इन्वेस्टमेंट किया जाय. करना भी चाहिए लेकिन में आपको बता दू की क्रिप्टोकरेंसी के प्राइस का कोही स्थिरता नहीं होती है. इसके प्राइस में बहुत जादा उतार – चढाव होता रहता है.

क्रिप्टोकरेंसी में जितनी जल्दी प्राइस बढ़ सकती है, उतनी कम भी हो सकती है. ये इस बात पर ध्यान देकर ही आपको सोचना होगा की इसमें इन्वेस्टमेंट करना है या नहीं.

यदि आप इसमें इन्वेस्टमेंट कर रहे है तो कितना इन्वेस्ट करना है, इसका भी ध्यान दे. मतलब आपके पास कुछ एक्स्ट्रा पैसे है जिसे आपको गवाने पर भी दुख नहीं होगा ऐसा आपको लगता है तभी उतना ही पैसा इन्वेस्ट करे.

Ethereum कैसे ख़रीदे?

भारत में जैसे की दुसरे क्रिप्टोकरेंसी को ऑनलाइन प्लेटफार्म के जरिये ख़रीदा जाता है. उसी तरह आपको ether को भी ऑनलाइन ही खरीदना होता है.

भारत में क्रिप्टोकरेंसी खरीदने के लिए BuyUcoin, Zebpay, Bitbns ऐसे कही सारे ऑनलाइन वॉलेट एप्प है. इसके साथ साथ WazirX, CoinDCX, Coinswitch Kube इन जैसे कही एक्सचेंजस मार्किट में उपलब्ध है. जिनके मदत से आप आसानी से कोंनसे भी क्रिप्टोकरेंसी को खरीद या बेच सकते है.

निष्कर्ष (Conclusion):

तो दोस्तों इस पोस्ट में बस इतना ही उम्मीद करता हु आपने आज कुछ नया सिखा होगा. Ether के बारे में आपको सभी सवालो के जवाब मिले होगे. आपको ये आर्टिकल एथेरियम क्या है? (Ethereum kya hai in Hindi) कैसे लगा कमेंट करके जरूर बताये और अपने दोस्तों को भी शेयर करे.

Dogecoin क्रिप्टोकरंसी से आप हो सकते है मालामाल, जानिए क्या है? और कैसे ख़रीदे?

FAQ

Q1. Ethereum की शुरवात (Founder) किसने की?

Ethereum को सबसे पहले Vitalik Buterin ने साल २०१३ में दुनिया को वाकिफ किया था. ether कीमत में बहुत ही कम समय में तेजी आयी है, जिसके कारन इसकी पॉपुलैरिटी दिन ब दिन बढ़ रही है. Vitalik Buterin ये Canada के निवासी है
जिनका जन्म Russia में हुआ था.

Q2. एथेरियम कोनसे प्रोग्रामिंग लैंग्वेज पर चलती है?

एथेरियम प्लेटफार्म Solidity इस प्रोग्रामिंग लैंग्वेज का उपयोग करती है.

Q3. एथेरियम प्राइस क्या है?

एक Ether (ETH) की प्राइस 20 May 2021 को लगभग 2,676.82 अमेरिकी डॉलर यानि की 196,087.74 भारतीय रूपये है, जो की हर वक्त बदती रहती है.

Q4. Ethereum 2.0 क्या है?

Ethereum 2.0 जिसे ETH2 के नाम से भी जाना जाता है. ये सिर्फ मोजूद Ethereum Blockchain का अपग्रेडेड Version है. ETH2 का मुख्य उद्देश यही है की मोजुदा version में जो भी कमी है यानि की उनको दूर करना और Transaction की क्षमता और स्पीड को बढ़ाना.

Q5. ETH 2.0 को पूरा करने के लिए कितने चरण हैं?

ETH 1.0 से ETH 2.0 में लाने के लिए इसको तीन मुख्य चरणों में पेश किया जाएगा:
चरण 0 (Phase 0) The beacon chain: ये चरण 1 दिसंबर 2020 को लॉन्च कि गया। यह कोर चेन है जो सुनिश्चित करती है कि पूरे नेटवर्क में सभी Shard को जोड़ा रखा जाए(Sync).
चरण 1 (Phase 1) The Shard Chains: यह चरण 2021 में होना अपेक्षित है, इसमें एथेरियम का डेटा और लेनदेन Shard chains पर चलाया जाएगा. ये Proof of Stake ब्लॉकचेन हैं जो लेन-देन की पुष्टि करने, ब्लॉक बनाने और beacon chain के साथ संचार करने के लिए validators का उपयोग करते हैं
चरण 1.5 (Phase 1.5) यह चरण 2021 में होना अपेक्षित है, इस चरण में, जो पहिलेसे एथेरियम नेटवर्क है उसे एक Proof of stake नेटवर्क में परिवर्तित हो जाएगा और मुख्य ETH 2 चैन से जुड़ा होगा।
चरण 2 (Phase 2) shards fully functioning इस चरण में पुराने सिस्टम को पूरी तरह ETH 2.0 में कार्यनीत किया जायेगा.

सन्दर्भ : https://ethereum.org/

ये भी पढ़े :

सॉवरेन गोल्ड बांड क्या है?
डीमैट अकाउंट क्या होता है? डीमैट अकाउंट के बारे में पूरी जानकारी
म्यूच्यूअल फण्ड क्या है? इन्वेस्टमेंट कैसे करे ?

Share

2 thoughts on “क्या है Ethereum? क्या Bitcoin से एथेरियम बेहतर है? पूरी जानकारी हिंदी में”

Leave a Comment