Hydroponic Farming ये किस प्रकार की खेती होती है? इससे कैसे लोग इतना पैसा कमा पाते है?

Business Ideas: Hydroponic Farming ये किस प्रकार की खेती होती है? हाइड्रोपोनिक फार्मिंग अपने घर (Hydroponic Farming at home) के छत पर ही कैसे करे? Hydroponic Farming cost and Income

हेल्लो दोस्तों, हम आज आपके लिए लेके आये है एक ट्रेडिंग Low Investment Business Ideas जिसका नाम है Hydroponic Farming. यह बिज़नस आईडिया बहुत ही कम इन्वेस्टमेंट में चालू कर सकते हो. यह तकनीक का उपयोग आप छोटे पयमाने से लेकर बड़े पयमाने तक कर सकते है.

इस तकनीक के सहायता से आपने घरों के छतो का इस्तमाल करके लाखो रूपये तक का इनकम कर सकते हो.

इस तकनीक से दुनिया भर में बहुत सारे देश खेती कर रहे है. लेकिन इसमें सबसे जादा इस तरह की फार्मिंग इजराइल में हो रही है. हमारे देश में बहु त ही कम लोगो को इस तकनीक के बारे में जानते है. इसलिए हम इस आर्टिकल के माध्यम से हम आपको Hydroponic Farming की जानकारी देने की कोशिश करेंगे.

आज के आर्टिकल में हम जानेगे की Hydroponic Farming क्या है? (Hydroponic Farming in Hindi) ये फार्मिंग कैसे की जाती है? इसके लिए कितना इन्वेस्टमेंट करना पड़ता है? इस तकनीक के माध्यम से आप कोनसे फसल उगा सकते है? और कितना प्रॉफिट कमा सकते है?

हाइड्रोपोनिक फार्मिंग क्या है? (Hydroponic farming in Hindi)

ये एक ऐसी फार्मिंग की तकनीक है जिसमे आप बिना मिट्टी की खेती कर सकते हो. इसे जलिए खेती भी कहते है. इस तकनीक में आप पानी, सनलाइट और पोषक (Nutrients) द्रव्य के साथ पोधों को उगा सकते है.

इसमें आपको बहुत जादा जमीन की आवश्यकता नहीं होती है. बहुत ही कम जमीन में आप हाइड्रोपोनिक फार्मिंग कर सकते हो. आप सबको तो पता ही है की हमारे पृथ्वी पर पानी की क्षमता कम होती जा रही है.

ऐसे में पानी की समस्या से निपटने के लिए हाइड्रोपोनिक फार्मिंग की यह तकनीक बहुत ही अच्छी साबित हो सकती है. इस तकनीक की कही सारे फायदे है. हाइड्रोपोनिक फार्मिंग को आप एक स्टार्टअप की तोर पर शुरू करके अपने घरों के छतो पर सब्जिया उगा सकते हो.

Hydroponic farming के जरिये प्लांट्स उगाने के लिए उनको पानी और सनलाइट के साथ कई तरह के मिनरल्स और nutrients की आवश्कता होती है.

हाइड्रोपोनिक फार्मिंग में आप कई तरह के पिक उगा सकते है. जिसमे आप सब्जिया और फल का भी कल्टीवेशन कर सकते हो. इस के जरिये आप धनिया, मेथी, फूलगोभी, पत्तागोभी, ब्रोक्कोली, शिमला मिर्च, पालक, बैंगन, मिर्च, टमाटर आदि कई सब्जिया उगा सकते हो.

इसके साथ साथ फलो में आप स्ट्रॉबेरी, चेरी टोमेटो, कुकुम्बर, वाटर मेलोन, ब्लूबेरी आदि उगा सकते हो.

हाइड्रोपोनिक फार्मिंग कैसे करे?

अब तक तो आपको पता चल ही गया होगा की Hydroponic farming क्या है. तो अब आपके मन में एक सवाल आया होगा की क्या इस तकनीक के जरिये हम अपने भारत में हाइड्रोपोनिक फार्मिंग कर सकते है?
तो जी हा दोस्तों हमारे देश में कई लोग इस तकनीक का इस्तमाल कर रहे है.

तो आप भी इस तकनीक का इस्तमाल करके बहुत अच्छी तरह Hydroponic farming करके अच्छा इनकम कर सकते है. तो दोस्तों चलिए देखते है की हाइड्रोपोनिक फार्मिंग को कैसे करे.

Hydrophonic Farming करने के लिए सबसे जरूरी चीजे जिसपे आपको ध्यान देना होता है..

1) पानी का pH मेन्टेन करना
2) सनलाइट
३) Nutrients and Minerals की सप्लाई
४) ऑक्सीजन
५) सेटअप का आकार
६) मेंटेनेंस

Hydroponic Farming structure कैसे बनाये?

हाइड्रोपोनिक फार्मिंग के लिए सबसे पहिले आपको इसका का सेटअप बनाना पड़ेगा. हाइड्रोपोनिक का structure पाइप से बना होता है. कही देशो में यह structure बनाने के लिए प्लेट्स का भी इस्तमाल होता है.

हमारे इदर जादा तर लोग पाइप structure का ही इस्तमाल करते है. क्यू की इसका यह फायदा है की
इसमें पानी की बचत होती है और खर्चा भी कम आता है.

इस तकनीक में कही तरह के सेटअप होते है जैसे की Horizontal और Vertical आकार में होते है. जिसको आपके आवश्यकता के अनुसार चुनाना पडता है.

हाइड्रोपोनिक का सेटअप बनाने के लिए कही तरह के बाते ध्यान में रखना होता है, जैसे की जमीन का आकार, फसल का प्रकार, फसल की उचाई, सनलाइट आदि.

अगर आपको कम उचाई वाली फसल उगानी है तो आप Vertical सेटअप का आसानी से उपयोग कर सकते है. Vertical सेटअप का फायदा है की इसको बहुत कम जगह लगती है.

और Vertical structure होने के कारन आप कम जगह में अधिक फसल उगा सकते है. यह सेटअप बनाते समय आपको ध्यान रखना पड़ता है की हर प्लांट को ठीक से सनलाइट पोहचनी चाहिए.

पर जब आप जादा उचाई वाले प्लांट चुनते हो तब Vertical structure में उन सबको अच्छी तरह सनलाइट नहीं पोहच पाती. इसके कारन पोधों की ग्रोथ कम होती है. तो इस परिस्थिति में आपको Horizontal structure की जरूरत होती है.

Horizontal structure का यही फायदा है की हर एक पोधों को समान मात्रा में सनलाइट पोचती है. लगाने तो ये पढ़कर आपको कोनसा सेटअप आपके फार्मिंग के लिए चुनना है ये समज आया होगा.

पोधों को लगाते वक़्त आपको दो पोधों के बिच के अंतर का भी ख्याल रखना है. आप पोधों को स्ट्रक्चर में लगाने के लिए काकोपित का इस्तमाल कर सकते हो.

इसके साथ साथ पोधों को सपोर्ट देने के लिए आपको वालू, कंकड़, परलाइट अधि को पाइप में थोडा डालना आवश्यक होता है. और आपको पानी को पोषक तत्त्व के साथ समय समय पर पाइप में बहाना है.

मौसम से बचाव कैसे करे?
मौसम से बचाव के लिए आप इस सेटअप को पोलीहाउस के अन्दर भी लगा सकते हो. यदि आपका आपका बजट कम है तो शेड नेट का भी इस्तमाल कर सकते है.

अपने घर के छत पर हाइड्रोपोनिक फार्मिंग कैसे करे? (Hydroponic Farming at home in Hindi)

आज कल आपने बहुत जगह देखा ही होगा की शहर के कुछ लोगों ने अपने घर के टेरेस पर ही फार्मिंग चालू की है. भविष्य में टेरेस फार्मिंग का ट्रेन्ड बढ़ने वाला है. आप भी इसका जल्दी से फायदा ले सकते है. जैसे की हमने बताया है की Hydroponic farming आप छोटे यूनिट से भी चालू कर सकते है.

यदि आपके घर के टेरेस पर छोटी सी भी जगह है तो आप ये फार्मिंग का सेटअप लगा सकते है.

इस सेटअप में कुछ पाइप लगे होते है जिसमे पोधे लगाये जाते है, और उसी पाइप में Nutrients युक्त पानी को बहाया जाता है, इसी पानी में पोधों की जड़े छोड़ी जाती है. इस प्रकार जड़े पानी से Nutrients लेके अपनी ग्रोथ करते है.

इसमें आपको ध्यान रखना है की हर एक पोधे को सही मात्र में सनलाइट पोहचे, और आपको पानी की सप्लाई, Nutrients का भी रेगुलर ध्यान रखना होता है.

इसमें आपक घर पे लगने वाली अलग अलग सभ्जी उगा सकते हो जैसे की धनिया, पालक, पुधिना, मिर्च, टमाटर, बेंगान, सिमला मिर्च, गोभी, फूल गोभी, ब्रोकोली आदि कही प्रकार उगा सकते हो. इसके साथ साथ Hydroponic farming में फूल और फल भी उगा सकते हो.

इस तकनीक के सहारे उगाये गयी सब्जी मो भरपुर मात्र में प्रोटीन होता है. इन सब्जीयों का आप अपने घर में भी इस्तमाल कर सकते है और बाजार में भी बेचकर इनकम कर सकते हो.

हाइड्रोपोनिक फार्मिंग फायदे

  1. इस तरह की फार्मिंग के लिए बहुत कम जमींन की आवश्यकता होती है.
  2. इसमें स्टार्टिंग इन्वेस्टमेंट कम है होता है, आपको सिर्फ स्ट्रक्चर का खर्चा है जो की आप बहुत साल तक इस्तमाल कर सकते हो.
  3. पानी की बचत
  4. खाद की बचत
  5. अच्छी क्वालिटी की फसल
  6. मिट्टी से फैलने वाली बीमारी से छुटकारा
  7. कम खर्च में जादा मुनाफा
  8. बनाये हुए सेटअप को बार बार बदलने की जरूरत नहीं है, जिसपे आप कही बार फसल ले सकते है.
  9. इस तकनीक से आप अपने घर के टेरेस पर भी खेती कर सकते है.

हाइड्रोपोनिक फार्मिंग खर्चा और मुनाफा (Hydroponic Farming cost and Income)

जैसे की हमने बताया है की ये structure को बनाने के लिए बहुत ही कम खर्चा आता है, अगर आप अपने घर के छतो से या छोटी सी जगह से स्टार्ट करना चाहते है तो आपको structure बनाने के लिए कम से कम १० से १५ हजार रूपये तक का खर्चा आयेगा.

यदि आप ये बड़े स्केल पर करना चाहते है तो ४०० पोधों के लिए लगाने वाले structure को ८० से 90 हजार तक का खर्चा आयेगा.

जो की वन टाइम इन्वेस्टमेंट होगा और इस सेटअप को आप कही सालो तक बार बार इस्तमाल कर सकते हो. इसके जरिये कही अलग अलग प्रकार के फल और सब्जी उगाकर 2 से ३ लाख तक की कमाई आप साल भर में आसानी से कर सकते है.

ये भी पढ़े:
जैविक खेती क्या है? पूरी जानकारी …
प्रधानमंत्री स्वामित्व योजना क्या है? पूरी जानकरी …
90+ Low Investment Business Ideas in Hindi |कम पैसो में चालू किये जाने वाली बेहतरीन नए बिज़नस आईडिया

तो दोस्तों आज के आर्टिकल में हमने आपके साथ बहुत ही अच्छी बिज़नस आईडिया (Low Investment Business Ideas) शेयर की है. यदि आप Hydroponic farming चालू करना चाहते है तो मार्किट में बहुत सारे हाइड्रोपोनिक ट्रेनिंग प्रोग्राम उपलब्ध है. जिसके के जरिये आप ट्रेनिंग लेकर स्टार्टअप की तरह चालू कर सकते है. आपके ये आर्टिकल कैसे लगा कमेंट करके जरूर बताये औए अपने दोस्तों को भी शेयर करे.

सन्दर्भ:

https://www.freightfarms.com/hydroponics

Share

Leave a Comment