रतन टाटा की जीवनी|Ratan Tata Biography in Hindi

Ratan Tata Biography in Hindi, Life, Education, success, Donation, Quotes, सन्मान और पुरस्कार, Tata Company list, Tata family Tree

आज हम जिस इंसान के बारे में जानकारी लेने वाले है, वो नही सिर्फ एक आमिर इंसान है, बल्कि हमारे भारत देश के एक जाने माने महान उद्योगपति और एक दरियादिल इंसान है. जी हां दोस्तों इस आर्टिकल में हम आपको Ratan Tata जी का प्रेरणादायी जीवन का परिचय कराने वाले है.

रतन टाटा उद्योगपति होने के साथ साथ एक नेक दिल इंसान भी है. आज पूरा देश इनको जानता है तो वो इनकी दरियादिली से. वो हमेशा देश की संकट स्थिती में मदद करने के लिए तत्पर रहते है. वो हमारे देश के गरीब, मजदुर और जरुरतमंद लोगों की हमेशा मदद करते आये है.

उन्होंने ऐसे ही अनगिनत कार्ये किये है और लोगो के दिल में अपनी अच्छी जगह बनाई है. हमारे देश के बहुत सारे लोग तो उन्हें आज भगवान की तरह मानते है. इसका यही कारन है की वो कभी भी हमारे देश को संकट स्थिति में अकेला नहीं छोड़ते. उन्होंने अपनी बुधिमत्ता और योग्यता के बल पर Tata group को बहुत उचाई पे पोहचाया है. उनके कारन आज टाटा ग्रुप का नाम देश विदेशों में रोशन है.

उन्होंने पिछले साल २०२० में covid-19 महामारी के काल में कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों के लिए बड़ी राशी दान देकर उनकी सहायता की है. और अभी साल २०२१ में भी उन्होंने कोरोना वायरस की स्थिति में हमारे देश को ऑक्सीजन की सप्लाई करने के लिए बहुत बड़ा कदम उठाया है. उनके इस योगदान के कारन कही पीड़ित लोगों की जान बचाने में मदद हो रही है.

Ratan Tata History

Ratan Tata का जन्म 28 दिसंबर 1937 में भारत के सूरत शहर में एक व्यापारी घर में हुआ था. उनके पिता का नाम नवल टाटा और माता का नाम सोनू टाटा था. उनके माता पिता का तलाक होने के बाद, उनकी दादी नवाजबाई ने ही उनका पालन पोषण किया.

उन्होंने अपनी प्रारंभिक शिक्षा मुंबई के कैंपियन स्कूल से कीई और माध्यमिक शिक्षा कैथेड्रल एंड जॉन कॉनन स्कूल में रहकर पूरी की इसके बाद साल १९६२ में वो USA चले गए और न्यू योर्क के कॉर्नेल विश्वविद्यालय से बीएस वास्तुकला में स्ट्रक्चरल इंजीनियरिंग की डिग्री हासिल की. साल १९७५ उन्होंने हार्वर्ड बिज़नस स्कूल से एडवांस्ड मैनेजमेंट प्रोग्राम पूरा किया.

Ratan Tata Success Story

अपनी पढाई पूरी होने के बाद Ratan Tata ने कुछ समय के लिए लोस एंजेलिस में जोन्स और एमोंस काम किया. और फिर IBM में भी जॉब किया. साल १९६१ में ही उन्होंने अपने पारिवारिक tata ग्रुप को ज्वाइन किया और अपने करियर की शुरूवात की.

सबसे पहले उनको ग्रुप के tata स्टील कंपनी में शामिल किया गया था. जहा शुरूवात में उन्होंने शॉप फ्लोर पे कार्य किया था. उसके बाद वो tata ग्रुप के अन्य कंपनियों के साथ जुड़े.

Ratan Tata को साल १९७१ में NELCO राष्टीय रेडियो और इलेक्ट्रॉनिक्स कंपनी में प्रभारी निदेशक नियुक्त किया गया. उस वक्त इस कंपनी की आर्थिक हालत बहुत ख़राब थी.लेकिन Ratan Tata ने अपनी मेहनत और काबिलियत के दम पर नेल्को को नुकसान से उभ्राया और उसे सफल बनाया.

साल १९८१ में उन्हें tata इंडस्ट्रीज का अधक्ष बनाया गया. बाद में साल १९९१ में JRD Tata ने अपना अध्यक्ष का पद छोड़कर Ratan Tata को tata Group के अध्यक्ष की जिम्मेदारी सोंप दी. उन्होंने कड़ी मेहनत और लगन से tata ग्रुप को नयी उचाई तक पहुचाया. उनके नेतृत्व से tata कंसल्टेंसी सर्विसेस ने पब्लिक इशु जारी किया.

और न्यूयोर्क स्टॉक एक्सचेंज में टाटा मोटर्स को सूचीबद्ध किया. उनकी अध्यक्षता में टाटा ग्रुप ने कई महत्वपूर्ण प्रोजेक्ट को एक्सीक्यूट किया. अपने देश में ही नहीं बल्कि की पूरी दुनिया में टाटा ग्रुप को नहीं पहचान दिलवाई.

साल १९९८ में टाटा मोटर्स द्वारा पहली पूर्णत: भारतीय बनावट की यात्री कार ‘टाटा इंडिका’ को बाज़ार में पेश किया. साल २००७ में टाटा संस ने कोरस समूह को रतन टाटा के अध्यक्षता में सफलता पूर्वक अधिग्रहित किया. उसके बाद टाटा मोटर्स ने जैगुआर और लैंड रोवर जो की फोर्ड मोटर कंपनी के अधीन थे उनको खरीद लिया. और टाटा ग्रुप को नयी कामयाबी के स्तर पर पोहचा दिया.

रतन टाटा का सपना था की कम से कम 1 लाख रूपए लागत वाली कार बनाई जाए. इसलिए उन्होंने साल २००८ में टाटा नैनो कार का लॉन्च किया. और सबसे स्वस्थ कार का निर्माण किया. जिससे बहुत सारे गरीब लोगों का कार लेने का सपना साकार हुआ.

Ratan Tata भारतीय व्यापार जगत के एक प्रतिष्ठित व्यक्ति बन गए है. इतनी सफलता हासिल करने के बाद भी रतन टाटा की जीवन शेली बहुत ही साधारण है. उन्हें बाहरी दुनिया की चमक धमक में विश्वास नहीं है. टाटा ग्रुप आज दुनिया का पांचवा सबसे बड़ा इस्पात उत्पादक संस्थान बन चूका है. इस कामयाबी के पीछे रतन टाटा की मेहनत और लगन का बहुत बड़ा हिस्सा है.

टाटा परिवार Ratan Tata Family Tree

रतन टाटा के पिता का नाम नवल टाटा था. नवल टाटा को नवजबाई टाटा ने अपने पति के मृत्यु के बाद गोद लिया था. उनके पति का नाम सर रतन टाटा था जो की जमशेदजी के छोटे बेटे थे.

रतन टाटा की माँ का नाम सोनू था. उनका एक छोटा भाई है उनका नाम जिमी है. रतन टाटा की सौतेली माँ भी है जिनका नाम सिमोन नवल टाटा है. जो की वर्त्तमान में ट्रेंट की अधक्ष्य है.

उनको एक सौतेला भाई भी है, जिनका नाम नोएल टाटा है. जो की आज टाटा इंटरनेशनल के मैनेजिंग डायरेक्टर (MD)है. टाटा परिवार के टाटा परिवार भारत का एक आमिर पारसी परिवार है.

जमशेदजी नसरवानजी टाटा इस ग्रुप के जनक है. उन्होंने ही टाटा ग्रुप का निर्माण किया है.

Ratan Tata Company list

टाटा ग्रुप एक भारतीय बहुराष्ट्रीय संगठन होल्दिंग़ कंपनी है. Tata ग्रुप का मुखालय मुंबई, महाराष्ट्र में है और इस ग्रुप में कई सारी कंपनिया शामिल है. जिसमे ३ लाख से भी जादा लोग काम करते है. टाटा ग्रुप दुनिया के १४० से भी अधिक देशो को उत्पादन और सेवाएँ प्रदान करता है. इन्होने कई सारी अन्य कंपनियों को भी अधिग्रहण किया है.

टाटा मोटर्स ने फोर्ड कंपनी से जैगुआर और लैंड रोवर ख़रीदा. टाटा स्टील ने कोरस स्टील को ख़रीदा. टाटा टी ने गुड अर्थ क्रॉप का अधिग्रहण किया. इसके साथ साथ अमेरिकी कंपनी ग्लेसो, टेलीग्लोब इंटरनेशनल, कोमी कॉर्न, मेल्लिनियम स्टील नेटस्टील, टेटली टी आदि. कई कंपनियों को अधिग्रहित किया है.

  1. टाटा केमिकैल्स (Tata Chemicals)
  2. टाटा कम्युनिकेशन (Tata Communications)
  3. टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेस (Tata Consultancy Services)
  4. टाटा कन्ज़ुमेर प्रोडक्ट्स (Tata Consumer Products)
  5. टाटा एलक्स्सी (Tata Elxsi)
  6. टाटा मोटर्स (Tata Motors)
  7. टाटा पॉवर (Tata Power)
  8. टाटा स्टील (Tata Steel)
  9. वोल्टास (Voltas)
  10. टाटा क्लिक (Tata Cliq)
  11. टाइटन इंडस्ट्रीज (Titan Industries)
  12. ट्रेन्ट (Trent -Westside)
  13. इंडियन होटल्स कंपनी लिमिटेड (Indian Hotels Company Limited)
  14. टाटा एयरलाइन्स (Tata Airlines)
  15. टाटा ऑटो कॉम्प सिस्टम लिमिटेड (TATA AutoComp systems Ltd)
  16. विस्तारा (Vistara)
  17. क्रोमा (Cromā)
  18. इंडीकॅश ( Indicash)
  19. टाटा टेलीसेर्विसस (Tata Teleservices)
  20. टाटा टी (Tata Tea)
  21. टाटा टेक्नोलॉजीज (Tata Technologies)
  22. टाटा स्टील यूरोप (Tata Steel Europe)
  23. टाटा इंस्टिट्यूट ऑफ़ फंडामेंटल रिसर्च (Tata Institute of Fundamental Reaserch)
  24. टाटा इंस्टिट्यूट ऑफ़ सोशल साइंस (Tata Institute of Social Science)
  25. टाटा इंस्टिट्यूट ऑफ़ साइंस (Tata Institute of Science)
  26. टाटा मैनेजमेंट ट्रेनिंग सेन्टर (Tata Management Training Center)

Ratan Tata सन्मान और पुरस्कार

Ratan Tata ने अपने जीवन में बहुत सारे सन्मान और पुरस्कार हासिल किये है. जिनकी गिनती बेहद बड़ी है. ये इतने महान आदमी है की इन्हे भारत के दुसरे और तीसरे सर्वोच्च नागरिक पुरस्कार पद्मा विभूषण और पद्मा भूषण से सन्मानित किया गया है. ऐसे ही अन्य कई पुरस्कार उन्हें मिले है.

तो चलिए उनके पुरस्कारों के बारे में जान लेते है.

  1. साल २०१५- बड़ोदा प्रबंधन संघ द्वारा “सयाजी रत्न पुरस्कार “
  2. साल २०१०- इंडो-इस्राईली चेंबर ऑफ़ कॉमर्स द्वारा “बिज़नस मन ऑफ़ द डिकेड” से सन्मान
  3. साल २०१० – येल विश्वविद्यालय द्वारा ” लीजेंड इन लीडरशिप अवार्ड”
  4. साल २००९ – इंडियन नेशनल अकादमी ऑफ़ इंजीनियरिंग द्वारा ” एन्गिन्नेरिंग में लाइफटाइम कॉन्ट्रिब्यूशन अवार्ड फॉर २००८”
  5. साल २००८ – प्रदर्शन रंगमच द्वारा ” प्रेरित नेतृत्व पुरस्कार”
  6. साल २००८ – सिंगापूर सरकार द्वारा ” मानद नागरिक पुरस्कार “
  7. २६ जनवरी २००८- भारत सरकार द्वारा “पद्मा विभूषण पुरस्कार” से सन्मान
  8. १४ फरवरी २००८ – “नैसकॉम ग्लोबल लीडरशिप पुरस्कार”
  9. साल २००६ – कॉर्नेल यूनिवर्सिटी द्वारा ” 26 वे रोबर्ट एस सन्मान”
  10. २६ जनवरी २००० – भारत सरकार द्वारा “पद्मा भूषण पुरस्कार” से सन्मान
  11. और अन्य कई मानद डॉक्टरेट से बहुत सारी यूनिवर्सिटीज ने Ratan Tata को सन्मानित किए गए है.

Ratan Tata Motivational Quotes in Hindi

  1. मै सही निर्णय लेने में विश्वास नहीं करता . मै निर्णय लेता हु और फिर उन्हें सही साबित कर देता हु.
  2. सत्ता और धन मेरे दो प्रमुख सिद्धांत नहीं है.
  3. जिस दिन मै उड़न नहीं भर पाउँगा, वो मेरे लिए एक दुखद दिन होगा.
  4. किसी भी काम के प्रति हमेशा positive सोच रखनी चाहिए, क्यूंकि Negativity हमारी असफलता का कारन बनती है.
  5. If you want to walk fast, walk alone. But if you want to walk far, walk together.
  6. कुछ करने की इच्छा रखने वाले वक्ति के लिए इस दुनिया में कुछ भी असंभव नहीं .

कहानी दुनिया के सबसे अमीर शख़्स: Elon Musk की

Ratan Tata Inspiration

Ratan Tata भारत देश के सबसे कामयाब और प्रसिद्ध व्यावसायिक में गिने जाते है. इतना ही नहीं बल्कि देश विदेशों में उनका नाम आदरपूर्वक लिया जाता है. एक प्रसिद्ध बिज़नसमन होने के साथ साथ वो बहुत ही नेक दिल इंसान है. जिनका मानना है की व्यापर का अर्थ सिर्फ मुनाफा कमाना नहीं होता है बल्कि इससे समाज को भी कुछ फायदा होना चाहिए.

देश के गरीब, असाहय और पीड़ित लोगों की मदद करने के लिए वो हमेशा तत्पर रहते है. उनके दान धर्म और दरियादिली के बेहद उदाहरण है. उन्होंने अपने जीवन में हमेशा आगे बढ़ना सिखा है.और टाटा ग्रुप के साथ साथ अपने देश का भी नाम पूरी दुनिया में रोशन किया है. ये सचमुच हमारे देश के एक ‘अनमोल रतन’ है. इनके जीवन से हमें बहुत बड़ी सिख और प्रेरणा मिलती है.

दोस्तों अगर Ratan Tata Biography in Hindi का यह जीवन परिचय आपको अच्छा लगा होगा, तो comments करके हमें जरुर बताए. और आपके दोस्तों के साथ SHARE करना न भूलिए. तो इस आर्टिकल में बस इतना ही. हम आपके लिए ऐसे ही और Motivational Stories लाते रहेंगे. धन्यवाद् .

भारत के सबसे बड़े दानवीर अज़ीम प्रेमजी की कहानी

FAQ

Q1. टाटा कंपनी ( Tata Group) की स्थापना कब हुई ?

टाटा कंपनी की स्थापना १८६८ में मुंबई में हुई थी.

Q2. Tata Company का मालिक कौन है?

Tata Company की शुरूवात जमशेतजी टाटा नी की थी. यह एक निजी व्यावसायिक समूह है. जिसके अध्यक्ष रतन टाटा है.

Q3. Ratan Tata के कितने बच्चे है?

Ratan Tata ने शादी नहीं की है, तो उनके बच्चे भी नहीं है.

Q4. रतन टाटा की wife का नाम क्या है?

रतन टाटा ने शादी नहीं कियी है. तो उनकी wife नहीं है.

Share

Leave a Comment